अब सांस रोगियों को मिलेगी कुदरती ऑक्सीजन


– वातावरण की ऑक्सीजन सीधे मरीजों तक पहुंचेगी
– यूपी के अस्पतालों में लगेंगी एयर सप्रेशन यूनि‍ट
– 400 से लेकर 1500 लीटर प्रति‍ मि‍नट तैयार होगी ऑक्सीजन

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. ठंड में प्रदूषण के कारण हृदय और सांस रोगियों की मुश्किलें बढ़ जाती हैं। वह अस्पताल का रुख करते हैं। खुदा न खास्ता वहां ऑक्सीजन की किल्लत हुई तो मरीजों के जान पर बन आती है। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा, क्योंकि केंद्र व राज्य सरकार के सहयोग से यूपी के 30 अस्पतालों में एयर सप्रेशन यूनि‍ट लगेंगी। यह 400 से लेकर 1500 लीटर प्रति‍ मि‍नट ऑक्सीजन तैयार कर सकेंगी। इनमें लगा सर्कि‍ट बाहर की हवा खीचेंगा, जिसमें से ऑक्सीजन के कणों को अलग कर स्टोर करेगा। और फिर पाइप के जरिए आक्सीजन मरीज तक पहुंचाई जाएगी। ऐसे में अस्पतालों को नि‍जी कंपनी से ऑक्सीजन सि‍लेंडर भराने का झंझट खत्म होगा। चि‍कि‍त्सा एवं स्वास्थ्य महानिदेशक पवन नेगी ने बताया कि एयर सप्रेशन यूनि‍ट के जरिए हवा से ऑक्सीजन स्टोर करने की क्षमता होगी। ड्रग कॉर्पोरेशन जल्द ही यूनि‍ट नि‍र्माण के लि‍ए टेंडर जारी करेगा।

शुरुआत में प्रदेश के उन 10 अस्पतालों के नाम फाइनल हो गये हैं, जिनमें सप्रेशन यूनिट लगाई जाएगी। इनमें लखनऊ के लोकबंधु व सि‍वि‍ल अस्पताल भी शामिल हैं। इसके अलावा गोरखपुर का टीबी अस्पताल, कानपुर नगर का कांशीराम संयुक्त अस्पताल, प्रयागराज का टीबी अस्पताल, बरेली का कोवि‍ड अस्पताल, वाराणसी का पंडित दीन दयाल हॉस्पि‍टल, गौतम बुद्ध नगर का कोवि‍ड अस्पताल। इसके अलावा भी सोनभद्र, अमेठी, अंबेडकर नगर के मदर एंड चाइल्ड हॉस्पि‍टल पर मुहर लगा दी गई है। शेष अस्पतालों के नाम भी जल्द फाइनल हो जाएंगे।

यह भी पढ़ें : लखनऊ की आबोहवा में घुला ‘जहर’, खतरनाक स्तर पर पहुंचा एक्यूआई






Show More












.

Thanks to News Source by