अभी तक तमिलनाडु को दिया 157 टीएमसी पानी


तमिलनाडु को प्रति दिन एक टीएमसी अतिरिक्त पानी

बेंगलूरु. इस वर्ष राज्य में अच्छी बारिश होने के कारण कावेरी जलबहाव क्षेत्र में स्थित बांधों से तमिलनाडु को अभी तक 157 टीएमसी पानी दिया जा चुका है। जलसंसाधन विभाग के सूत्रों के मुताबिक कावेरी पंचाट के अंतिम फैसले के तहत 1 जून से 31 अक्टूबर तक तमिलनाडु को 146 टीएमसी पानी देना अनिवार्य था। इस दौरान 9 टीएमसी अधिक पानी दिया गया है।कावेेरी जलबहाव क्षेत्र के कृष्णराजसागर (केआरएस), हारंगी, कबिनि तथा हेमावती चारों बांध लबालब हंै। लिहाजा तमिलनाडु को प्रति दिन एक टीएमसी अतिरिक्त पानी मिल रहा है।

मांग से भी अधिक पानी की आपूर्ति होने के कारण इस वर्ष कर्नाटक तथा तमिलनाडु के बीच कोई संघर्ष नहीं हुआ है।उधर कृष्णा जलबहाव क्षेत्र में भी ऐसे ही हालात है। इस वर्ष कृष्णंा जलबहाव क्षेत्र के बांधों से आंध्र प्रदेश को आवंटन से अधिक मात्रा में पानी बहाया गया है। मौसम विभाग ने 4 नव बर के पश्चात राज्य में फिर बारिश की भविष्यवाणी की है।

पहले बुनियादी सुविधाओं का इंतजाम करें : रेवण्णा

हासन. राज्य सरकार के आनन-फानन कॉलेज शुरू करने के प्रस्ताव पर आपत्ति दर्ज करते हुए जद-एस के नेता एचडी रेवण्णा ने कहा कि पहले यहां बुनियादी सुविधाएं तथा व्याख्याताओं के रिक्त पद भरने की व्यवस्था करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य के कई कॉलेज में पर्याप्त संख्या में व्याख्याता नहीं हंै। कई कॉलेज में लैब तथा पुस्तकालय भी नहीं हैं। प्रशासन को कॉलेज खोलने से पहले इन व्यवस्थाओं पर ध्यान देना चाहिए। 17 नवंबर से नया कॉलेज शुरू करना कोई मायने नहीं रखता है।

उन्होंने कहा कि जानबूझ कर सरकारी कॉलेजों की अनदेखी कर राज्य सरकार निजी कॉलेज की कठपुतली की तरह कार्य कर रही है। कॉलेज में व्याख्याताओं की नियुक्ति की प्रक्रिया गत दो वर्षों से ठप होने के कारण कॉलजों में व्याख्याताओं के सैकड़ों पद रिक्त है।

उन्होंने सिरा क्षेत्र में जनता दल एस की प्रत्याशी अम्माजम्मा की जीत का दावा करते हुए कहा कि हाल में इस क्षेत्र में जद-एस नेताओं के रोड शो तथा सार्वजनिक सभाओं में उमड़ी भीड़ को देखते हुए लगता है कि जनता दल एस इस सीट पर अपना कब्जा बरकरार रखेगा।



.

Thanks to News Source by