आंधी-बारिश ने बरपाया कहर: 40 से अधिक बिजली पोल व ट्रांसफर हुए क्षतिग्रस्त, पेड़ भी गिरे, सप्लाई हुई बाधित 15

आंधी-बारिश ने बरपाया कहर: 40 से अधिक बिजली पोल व ट्रांसफर हुए क्षतिग्रस्त, पेड़ भी गिरे, सप्लाई हुई बाधित

आंधी-बारिश ने बरपाया कहर: 40 से अधिक बिजली पोल व ट्रांसफर हुए क्षतिग्रस्त, पेड़ भी गिरे, सप्लाई हुई बाधित 16


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फरीदाबाद6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
प्राॅपर बिजली सप्लाई न हाेने से शहर के अधिकांश हिस्सों में पानी की सप्लाई बाधित रही। - Dainik Bhaskar

प्राॅपर बिजली सप्लाई न हाेने से शहर के अधिकांश हिस्सों में पानी की सप्लाई बाधित रही।

सोमवार देर रात तेज आंधी-बारिश ने शहर में खूब कहर बरपाया। कई इलाकों में पेड़ टूटकर सड़कों पर गिर गए। इससे बिजली के तार भी क्षतिग्रस्त हो गए। बिजली विभाग के मुताबिक तेज आंधी के कारण शहर के अलग-अलग हिस्सों में 40 से अधिक बिजली के पोल और ट्रांसफारमर गिरकर क्षतिग्रस्त हो गए। मंगलवार सुबह से ही बिजली विभाग के कर्मचारी मेंटीनेंस करने में लगे रहे, लेकिन शाम तक कई इलाकों में सप्लाई बहाल नहीं हो पायी थी।

ऐसे में लोगों को प्राइवेट टैंकर मंगाकर काम चलाना पड़ा। उधर मौसम विभाग का कहना है कि अभी दो दिन तक ऐसा ही मौसम बना रहेगा। ऐसे में शहरवासियों को दो दिन परेशानी का सामना करना पड़ा सकता है।

रात 12 बजे के बाद आयी थी आंधी
सोमवार रात करीब 12 बजे अचानक मौसम में बदलाव आया और तेज आंधी आनी शुरू हो गयी। आंधी आते ही बिजली सप्लाई बंद हो गयी। कुछ देर बाद गरज के साथ बारिश होने लगी। शहरवािसयाें की मानें ताे करीब पौने तीन बजे तक आंधी और बारिश होती रही। इसके चलते पेड़ और बिजली के पोल गिरकर क्षतिग्रस्त हो गए।

इन इन इलाकों में गिरे पोल व पेड़
आंधी की वजह से एनआईटी एक, दो, तीन, एसजीएम नगर, ओल्ड फरीदाबाद, सेक्टर-12, 21, भारत कॉलोनी, भगत सिंह कॉलोनी, राजीव कॉलोनी, कृष्णा कॉलोनी, संजय कॉलोनी व सेक्टर-22, 23, मेवला महाराजपुर, जवाहर कॉलोनी, एसजीएम नगर, गांव खेड़ी, तिलपत, जनता कॉलोनी, जीवन नगर, इंद्रा कॉलोनी, बसेलवा कॉलोनी, तिगांव समेत कई इलाकों में ट्रांसफार्मर गिरने और खंभे गिरने की वजह से बिजली आपूर्ति ठप हाे गयी।

सुबह चार बजे से शुरू हुआ मेंटिनेंस का काम
बिजली विभाग के एक्सईएन अमित कंबोज ने बताया कि आंधी पानी बंद होने के बाद सुबह चार बजे से ही मरम्मत का काम शुरू करा दिया गया। उन्होंने कहा कि आंधी के कारण हुए नुकसान को ठीक करने में वक्त लगा। वहीं दूसरी ओर कई इलाकों में मंगलवार शाम तक बिजली सप्लाई बहाल नहीं हो पायी थी। एक दर्जन से अधिक इलाकाें में पानी का संकट गहराया रहा।

शिकायत केंद्रों का नहीं उठता फोन

शहरवासियों का आरेाप है कि बिजली मेें फाल्ट आने के बाद कंट्रोल रूम का फाेन तक नहीं उठता। एनआईटी निवासी आरटीआई एक्टिविस्ट रवींद्र चावला, अजय नौटियाल, राजेश भाटिया आदि का कहना है कि रात में बिजली कंट्रोल रूम को फोन किया गया लेकिन फोन ही नहीं उठता। अधिकारी भाी फोन नहीं उठाते है। इस कारण उन्हें सही जानकारी नहीं मिल पाती है।

खबरें और भी हैं…



Source link