इस बार ठंड में नहीं ठिठुरेंगे गरीब और बेसहारा, ऑनलाइन होंगे सभी रैनबसेरे, डीएम को सख्त निर्देश


– डीएम को सख्त निर्देश, जारी किए 19.25 करोड़ रुपए

– ऑनलाइन होंगे सभी रैनबसेरे

– पांच-पांच लाख की धनराशि आवंटित

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गरीबों व निराश्रितों को ठंड से बचाने के लिए कंबल बांटने और सार्वजनिक स्थानों पर अलाव जलाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही उन्होंने कहा है कि इस बार राज्यों में रैनबसेरों का विवरण ऑनलाइन किया जाएगा। सर्दी के दौरान गरीबों और निराश्रितों को राहत पहुंचाने का कार्य पूरी तत्परता से करने की हिदायत देते हुए उन्होंने कहा कि इसके लिए धनराशि की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने संबंधित जिलाधिकारियों को निर्देश दिए हैं। इस पूरे कार्य के लिए 19.25 करोड़ की धनराशि जारी की गई है।

पांच-पांच लाख की धनराशि आवंटित

योगी सरकार द्वारा जिलाधिकारियों को दिए गए निर्देश के अनुसार, कबंल वितरण के लिए सभी जनपदों को प्रति तहसील 5-5 लाख रुपये व अलाव के लिए हर तहसील 50 हजार रुपये की धनराशि जारी की गई है। इसके अलावा अगर अतिरिक्त धनराशि की आवश्यकता पड़ेगी, तो शासन द्वारा समय से धनराशि आवंटित कर दी जाएगी।

रैनबसेरों की होगी जियो टैगिंग

सर्दी से बचने के लिए लोग नजदीकी रैनबसेरे को आसानी से खोज सकें, इसके लिए इस साल पहली बार शीतलहर में स्थापित की जाने वाले रैनबसेरों का विवरण ऑनलाइन दर्ज कराया जाएगा। रैनबसेरों की जियो टैगिंग के साथ-साथ इनको गूगल मैप पर भी दर्ज किया जाएगा।

आने वाले दिनों में गिरेगा पारा

उत्तर प्रदेश में मौसम लगातार अपने रंग बदल रहा है। मौसम विभाग का नया अपडेट है कि आने वाले दिनों में पारा और गिरेगा, साथ ही ठंड बढ़ेगी। यूपी के पूर्वांचल के जिलों के मुकाबले पश्चिमी यूपी के जिलों में ठंड पूरे शबाब पर रहेगी। वजह साफ है पश्चिमी यूपी के कई जिले उत्तराखंड राज्य से सटे हुए हैं। मंगलवार को उत्तराखंड के बदरीनाथ, हेमकुंड समेत ऊंची चोटियों में हिमपात हुआ। कई क्षेत्रों में करीब आधे घंटे तक ओलावृष्टि हुई है, जिससे ठंड में इजाफा हुआ है। बदरीनाथ में सीजन की पहली बर्फबारी रही, जबकि केदारनाथ में दूसरी बार बर्फ गिरी है। जिसका असर पश्चिमी यूपी के जिलों के साथ राजधानी लखनऊ तक आने की संभावना है। लखनऊ में ठंड का असर आने में करीब 24 घंटे का समय लग सकता है। बीती रात यूपी में सबसे ठंडा स्थान मुजफ्फरनगर रहा जहां पारा 8.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। कानपुर, बरेली, वाराणसी, प्रयागराज, मुरादाबाद, आगरा मंडलों में रात का तापमान सामान्य से कम रिकार्ड किया गया।

मौसम निदेशक जेपी गुप्त ने बताया कि, उत्तर प्रदेश में आने वाले दिनों में ठंड का असर और बढ़ेगा। अगले एक पखवारे में प्रदेश में दिन व रात के तापमान में थोड़ी और गिरावट आएगी। पूर्वांचल के मुकाबले पश्चिमी यूपी में ठंड गहराने लगी है।

ये भी पढ़ें: UP Top Ten News: एक बार तबादला लेने के बाद शिक्षिकाएं दोबारा कर सकती हैं तबादले की मांग

ये भी पढ़ें: विधानसभा के सामने आत्मदाह करने वाली पीड़िता फिर धरने पर बैठी, लगाया जान से मार डालने का आरोप

.

Thanks to News Source by