कर्नाटक : पढ़ाई के लिए विदेश जाने वाले विद्यार्थियों के लिए टीकाकरण की अलग व्यवस्था


  • तीन अन्य वर्ग भी प्राथमिकता सूची में शामिल

बेंगलूरु. पढ़ाई के लिए विदेश जाने वाले छात्रों सहित राज्य सरकार ने चार वर्ग के लोगों को कोरोन वैक्सीन की प्राथमिकता सूची में जगह दी है।

उपमुख्यमंत्री व कोविड टास्क फोर्स के अध्यक्ष डॉ. सी. एन. अश्वथ नारायण ने सोमवार को कहा कि विद्यार्थियों के अलावा नौकरी के लिए विदेश जाने वाले लोगों, केबल संचालकों और दुग्ध सहकारी समितियों के कर्मचारियों को टीकाकरण में प्राथमिकता मिलेगी।

उन्होंने कहा कि बेंगलूरु सिटी विश्वविद्यालय के प्रशासनिक ब्लॉक में मंगलवार को शाम तीन बजे इस टीकाकरण अभियान की शुरुआत होगी। विद्यार्थियों को विदेश में दाखिले का प्रमाण प्रस्तुत करना होगा। नौकरी के लिए जाने वालों के लिए भी प्रमाण दिखाना अनिवार्य है।

दूसरी खुराक की अवधि में छूट
कोविशील्ड की पहली खुराक ले चुके ऐसे लोगों के लिए दूसरी खुराक की अवधि में छूट दी गई है। छह सप्ताह के अंतराल में दूसरी खुराक ले सकते हैं। टीकाकरण प्रमाणपत्र मौके पर जारी होगी। बृहद बेंगलूरु महानगर पालिक के मुख्य आयुक्त व अन्य संबंधित कर्मचारियों को इस संबंध में जरूरी दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।

अश्वथ ने कन्नड़ फिल्म उद्योग के कलाकारों के लिए टीकाकरण अभियान की शुरुआत भी की। 18 साल से अधिक उम्र के 15 हजार कलाकारों को टीके लगाए जाएंगे। अश्वथ ने कहा कि जरुरतमंद कलाकारों को राशन किट उपलब्ध कराने के मसले पर वे मुख्यमंत्री से चर्चा करेंगे। अश्वथ ने कहा कि मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत किफायती दर पर घर उपलब्ध कराने के लिए जल्द ही आवेदन आमंत्रित किए जाएंगे और इसमें वित्तीय तौर पर कमजोर फिल्मी कलाकारों को भी इसमें शामिल किया जाएगा।









.

Thanks to News Source by