कोरोना : कर्नाटक के हर जिले में पोस्ट कोविड देखभाल व पुनर्वास केंद्र


  • पांच फीसदी लोगों के फिर से संक्रमित होने की संभावना

बेंगलूरु. सर्दियों और त्योहारों के मद्देनजर स्वास्थ्य व चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. के. सुधाकर ने गुरुवार को कोविड तकनीकी सलाहकार समिति के सदस्यों व अन्य अधिकारियों के साथ कोविड समीक्षा बैठक की।

बैठक के बाद उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार ने प्रदेश के हर जिला अस्पताल में में पोस्ट कोविड देखभाल व पुनर्वास केंद्र शुरू करने का निर्णय लिया है। बेंगलूरु में विक्टोरिया अस्पताल, बॉरिंग एंड लेडी कर्जन अस्पताल और के. सी. जनरल अस्पताल को पुनर्वास केंद्र के लिए चिन्हित किया गया है।
डॉ. सुधाकर ने कहा कि पांच फीसदी लोगों के फिर से संक्रमित होने की संभावना है। कोविड से उबर चुके लोगों को भी बचाव नियमों का पालन करना चाहिए।

कोविड संबंधित मौत सहित दूसरे संक्रमण आदि मुद्दों पर भी अध्ययन के निर्देश दिए गए हैं। रिपोर्ट के आधार पर आगे की रणनीति तय करने में आसानी होगी।

उन्होंने बताया कि दीपावली के लिए दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। पटाखा विके्रताओं, ग्राहकों, अन्य दुकानदारों और स्थानीय प्रशासकों को कोविड बचाव हर नियम का पालन करना होगा। पटाखे बेचने के लिए स्थानीय प्रशासन से आवश्यक मंजूरी लेनी होगी। पटाखों के दुकान व्यावसायिक और आवासीय स्थानों से दूर होंगे। दुकानदारों को सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि भीड़ न हो। मास्क और सामाजिक दूरी नियम का पालन हो। इसके लिए जगह-जगह मार्शन भी तैनात भी तैनात किया गए हैं।

कोविड के भय के कारण ज्यादातर लोग अन्य बीमारियों के उपचार के लिए अस्पताल जाने से कतरा रहे हैं जबकि सरकारी अस्पतालों में इसकी सुविधा है। कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए सभी एहतियाती कमद उठाए गए हैं।









.

Thanks to News Source by