कोरोना काल में रोडवेज के नियमित, संविदा व आउटसोर्स कर्मियों ने गंवाई जान,अब परिजनों को मिलेंगे 50 लाख


( Transport Corporation) मृतक रोडवेज कर्मियों के परिवार के लिए अच्छी खबर

लखनऊ. (transport corporation) कोरोना महामारी के दौरान ड्यूटी करते हुए जान गंवाने वाले उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के ड्राइवर-कंडक्टर समेत अन्य कर्मचारियों को सहायता धनराशि दी जाएगी। (transport corporation) रोडवेज में कार्यरत नियमित, संविदा या आउटसोर्स कर्मियों की संक्रमण से मृत्यु होने पर उनके आश्रितों को 50-50 लाख रुपए की एकमुश्त धनराशि दी जाएगी। (transport corporation) परिवहन निगम के अपर प्रबंध निदेशक अन्नपूर्णा गर्ग ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है।

(transport corporation) मांगी गई है सूचना

(transport corporation) उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के प्रधान प्रबंधक डीबी सिंह ने बताया कि उत्तर प्रदेश में अभी तक ड्यूटी के दौरान करीब 50 से ज्यादा कर्मचारियों की मौत की सूचना मिलीथी। उन्होंने बताया कि इस संबंध में उत्तर प्रदेश भर से सूचना मांगी गई है। (transport corporation) बता दें कि इस कोरोना काल में कई रोडवेज अधिकारियों की मृत्यु के साथ ही ड्राइवर कंडक्टर और आउटसोर्स कर्मी भी कोरोना की चपेट में आकर अपनी जान गवा चुके हैं।

(transport corporation) इस कोरोना महामारी में कई रोडवेज अधिकारियों की मृत्यु के साथ ही ड्राई अधिकारियों के लिए तो सरकार की तरफ से सहायता राशि की व्यवस्था की गई थी लेकिन (roadways union) रोडवेज यूनियन के नेता लगातार परिवहन निगम के अधिकारियों पर कर्मचारियों की हुई मृत्यु पर आर्थिक सहायता की मांग कर रहे थे। (roadways union) इसके बाद परिवहन निगम ने रोडवेज के ड्राइवर कंडक्टर और आउटसोर्स कर्मियों के परिजनों को भी 50-50 लाख रुपए की सहायता राशि उपलब्ध कराने का आदेश जारी किया है।

(roadways union) यूनियन ने किया इस कदम का जोरदार स्वागत

(transport corporation)उत्तर प्रदेश रोडवेज कर्मचारी संयुक्त परिषद के शाखा अध्यक्ष रजनीश मिश्रा ने परिवहन निगम के इस कदम का स्वागत किया है. उन्होंने कहा है कि इससे मृतक रोडवेज कर्मियों के परिजनों को दुख की घड़ी में संबल मिलेगा। (transport corporation) जिनके यहां सिर्फ कमाने वाले यही लोग थे। उनके लिए यह धनराशि जीने का सहारा बनेगी।






Show More


















.

Thanks to News Source by