कोरोना में जिन छात्रों ने माता-पिता को खोया, उन्हें एलयू लेगा गोद, उठाएगा शिक्षा का खर्च


लखनऊ विश्वविद्यालय (Lucknow University) ने कोरोना (Corona) से माता पिता को खोने वाले छात्रों को लेकर सराहनीय कदम उठाया है। कोरोना काल में जिन बच्चों ने माता पिता को खोया है, उन्हें यूनिवर्सिटी गोद लेगी। इतना ही नहीं उनकी पढ़ाई का पूरा खर्च भी विवि उठाएगी।

लखनऊ. लखनऊ विश्वविद्यालय (Lucknow University) ने कोरोना (Corona) से माता पिता को खोने वाले छात्रों को लेकर सराहनीय कदम उठाया है। कोरोना काल में जिन बच्चों ने माता पिता को खोया है, उन्हें यूनिवर्सिटी गोद लेगी। इतना ही नहीं उनकी पढ़ाई का पूरा खर्च भी विवि उठाएगी। इसी के साथ यह भी फैसला किया गया कि कोविड महामारी में जिन शिक्षकों या स्टाफ की मृत्यु हुई है, उनके आश्रितों को भी जल्द नौकरी मिलेगी। इसकी शुरुआत का पहला कदम वाइस चांसलर प्रो. आलोक कुमार राय, रजिस्ट्रार डॉ. विनोद कुमार सिंह, आदि ने उठाया है।

गोद लिए गए छात्रों की साल भर की फीस और बाकी एजुकेशन से जुड़ी फीस एलयू शिक्षण भरेंगे। यूनिवर्सिटी ने गूगल फॉर्म के जरिये 70 छात्रों की फीस जमा की है। दरअसल, शुक्रवार को कुलपति प्रो. आलोक कुमार राय की अध्यक्षता में कार्य परिषद की मीटिंग में इस सराहनीय पहल को मंजूरी दी गई। कुलपति ने खुद कार्य परिषद सदस्यों को इससे अवगत कराया और सभी अधिकारियों, शिक्षकों से अपील की कि इसके लिए आगे आए। इसी क्रम में चीफ प्रॉक्टर प्रो. दिनेश कुमार और अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो. पूनम टंडन ने भी एक-एक छात्र की शिक्षा के खर्च का जिम्मा उठाया है।

ये भी पढ़ें: छोटी बचत बड़ा फायदा, 160 रुपये की बचत पर मिलेंगे 23 लाख रुपये, टैक्स छूट के साथ कई सारे फायदे

ये भी पढ़ें: बीएचयू में पं. राजन मिश्र के नाम पर बना कोविड अस्पताल, बेटे ने कहा पूरा सिस्टम फेल, देश भी पिता के नाम कर दें तो भी क्या फायदा

.

Thanks to News Source by