कोर्ट के आदेश के बाद चार पुलिसवालों पर एफआइआर


बेंगलूरु. एक महिला को अवैध रूप से हवालात में रखने और उत्पीडऩ करने पर पुलिस निरीक्षक भरत, दो पुलिस उप निरीक्षक समेत चार लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है।

विजय नगर पुलिस थाने में केन्द्रीय अपराध शाखा (सीसीबी) के पुलिस निरीक्षक भरत, पुलिस उपनिरीक्षक संतोष कुमार, अक्षता और हेड कांस्टेबल लिंगाराजू के खिलाफ पाचवें अतिरिक्त मेट्रोपालिटन न्यायालय के आदेश पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। चारों ने चोरी के एक मामले में एक महिला को पूछताछ के लिए पुलिस थाने बुलाया था। महिला से पूछताछ करने के लिए सात दिन तक हिरासत में रखा गया।

पूछताछ के नाम पर महिला को बुरी तरह पीटने के अलावा शारीरिक रूप से उत्पीडऩ किया गया। कोरे कागजात पर जबरन हस्ताक्षर लेकर उसके खिलाफ झूठा मामला दर्ज किया गया था। महिला को रिहा करने के बाद चेतावनी दी गई थी कि अगर उसने किसी को कुछ बताया तो उसे फिर गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जाएगा।

महिला ने राज्य और राष्ट्रीय महिला आयोग, पुलिस आयुक्त और पुलिस उपायुक्त से लिखित शिकायत की थी। पीडि़ता ने न्यायालय में निजी शिकायत दर्ज कराई थी। न्यायालय के आदेश पर विजय नगर पुलिस थाने में चार पुलिस कर्मचारियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज का गई।

 

विदेशी नागरिक समेत 10 आरोपी गिरफ्तार
– 90 लाख रुपए के विभिन्न ड्रग्स जब्त

बेंगलूरु. केंद्रीय अपराध शाखा (सीसीबी) पुलिस ने 90 लाख रुपए के ड्रग्स जब्त कर एक विदेशी नागरिक समेत 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया।
सीसीबी ने आठ पुलिस थाना क्षेत्रों में यह कार्रवाई की। सभी की उम्र 20 से 31 वर्ष के बीच की है। आरोपी डार्क नेट से ड्रग्स खरीदते थे। वे इसे छात्रों को बेचते थे। इसकी सूचना प्राप्त कर सीसीबी ने सीमा शुल्क अधिकारियों के साथ संयुक्त कार्रवाई कर आरोपियों को गिरफ्तार किया। एचएसआर लेआउट, विजय नगर, महालक्ष्मी लआउट, हलसूरु, डी.जे.हल्ली, इंदिरा नगर, एचएएल और राममूर्ति नगर पुलिस थानांतर्गत छापे मारे गए। आरोपियों के कब्जे से बड़ी मात्रा मे कई तरह के मादक पदार्थ, 12 मोबाइल, लैपटाप और दो दुपहिया वाहन जब्त किए गए। सबके खिलाफ आठ थानों में एनडीपीएस के तहत मामले दर्ज किए गए हैं।

.

Thanks to News Source by