कोविड मरीज वोट डालने को ज्यादा उत्सुक नहीं


बीबीएमपी के अधिकारी मना रहे, लेकिन अधिकांश रोगी मतदान करने को अनिच्‍छुक

बेंगलूरु. राजराजेश्वरी नगर विधानसभा क्षेत्र के लिए मंगलवार को होने वाले उपचुनाव में कोविड रोगियों को मताधिकार का प्रयोग करने के लिए पोलिंग बूथ तक जाने और वापस घर ले जाने की व्यवस्था महानगर पालिका ने की है। इसके बावजूद मतदान के कुछ घंटे पहले तक ऐसे अधिकांश मतदाताओं ने मतदान के प्रति अनिच्छा जताई है।

बीबीएमपी आयुक्त मंजुनाथ प्रसाद ने आरआर नगर के एक स्कूल में मतदान सामग्री वितरण और नियंत्रण केंद्र का दौरा कर व्यवस्थाओं का जायजा लेने के बाद कहा कि कई योग्य मतदाताओं ने मतदान केंद्र पर जाने में रुचि नहीं दिखाई। उन्होंने कहा कि बीबीएमपी के अधिकारी और नियंत्रण कक्ष के कर्मचारी अब तक ऐसे मतदाताओं को दो-तीन बार फोन कर चुके हैं। वे अनिच्छुक हैं और कई ने तो जरा भी दिलचस्पी नहीं दिखाई है।

उन्होंने कहा कि हम उनसे कह रहे हैं कि आओ और मतदान करो। लेकिन हम हार नहीं मानेंगे और मतदान के आखिरी घंटे तक उन्हें मनाने की कोशिश करते रहेंगे। मंजूनाथ प्रसाद ने कहा कि जो भी आने को तैयार होगा, हम उन्हें पीपीई किट प्रदान करेंगे और लाएंगे। उन्हें एंबुलेंस में पोलिंग बूथ तक ले जाया जाएगा।

बीबीएमपी के रिकॉर्ड के अनुसार, कुछ दिन पहले तक आरआर नगर निर्वाचन क्षेत्र के सभी नौ वार्ड में लगभग 1,777 कोविड सकारात्मक रोगियों की सूचना थी। जिसमें से 317 मरीजों केा विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। 842 लोग होम आइसोलेशन रखे गए हैं और अन्य 18 का इलाज कोविड केयर सेंटरों में किया जा रहा था।

बीबीएमपी के अधिकारियों ने कोविड रोगियों के लिए 90 एम्बुलेंस और पीपीई किट की व्यवस्था की है ताकि उन्हें वोट डालने के लिए मतदान केंद्रों तक लाया जा सके और वापस उन्हीं एम्बुलेंस में छोड़ा जा सके। बीबीएमपी ने यहां तक कि मतदान के अंतिम एक घंटे को विशेष रूप से कोविड रोगियों के लिए समर्पित किया है। कमिश्नर के मुताबिक, कई लोगों ने मतदान के दिन वोट डालने में जरा भी दिलचस्पी ही नहीं दिखाई।







.

Thanks to News Source by