गणतंत्र दिवस पुष्प प्रदर्शनी पर संशय के बादल


– लालबाग में स्वतंत्रता दिवस पर भी नहीं हुआ था आयोजन

बेंगलूरु. कोरोना के कारण गणतंत्र दिवस (Republic Day) के उपलक्ष्य में भी इस बार लालबाग पुष्प प्रदर्शनी (Lalbagh Flower Show) के आयोजन की संभावना क्षीण है। साल में दो बार- गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में लालबाग में पुष्प प्रदर्शनी आयोजित होती है। लेकिन, कोरोना के कारण अगस्त में स्वतंत्रता दिवस (Independance Day) पर प्रदर्शनी का आयोजन नहीं हुआ था।

कोरोना के मामलों में कमी के बावजूद अगले साल जनवरी में गणतंत्र दिवस पर प्रदर्शनी के आयोजन की तैयारियां अभी शुरु नहीं हुई हैं। अधिकारियों का कहना है कि गणतंत्र दिवस प्रदर्शनी भी रद्द होने की संभावना है। हालांकि, अभी तक प्रदर्शनी के आयोजक उद्यान विभाग और मैसूरु उद्यान कला संघ ने इसके बारे में कोई निर्णय नहीं लिया है। हर बार प्रदर्शनी के दौरान लाखों फूलों से बनने वाली प्रतिकृति लोगों के आकर्षण का केंद्र होती है। उद्यान विभाग के अधिकारियों के मुताबिक जनवरी में होने वाली प्रदर्शनी के लिए तैयारियां अक्टूबर महीने से ही शुरु हो जाती है।

बागवानी के विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि अगर जनवरी में प्रदर्शनी का आयोजन होना है तो अभी विभिन्न प्रतियोगिताओं के लिए प्रतियोगियों के चयन, बगीचे का आकर्षण बढ़ाने के लिए सजावटी फूलों के पौधों को तैयार करने का काम शुरु हो जाना चाहिए। लेकिन, अभी तक कोई तैयारी नहीं है। संघ के एक अधिकारी ने कहा कि अभी तक प्रदर्शनी के आयोजन के लिए अनुमति नहीं मिली है। अगर सरकार प्रदर्शनी के आयोजन की अनुमति देती भी है तो वित्तीय तौर पर यह कितना फायदेमंद रहेगा, देखना पड़ेगा।

जनवरी में प्रदर्शनी के आयोजन पर करीब एक करोड़ रुपए खर्च हुआ था लेकिन अपेक्षित संख्या में दर्शकों के नहीं आने के कारण सिर्फ 35 लाख रुपए की आय हुई। ऐसी स्थिति में अभी आयोजन का निर्णय जोखिम भरा हो सकता है। अगस्त में भी कोरोना के कारण प्रदर्शनी आयोजित नहीं हुई थी। पहली बार लगातार दो प्रदर्शनी रद्द होगी।











.

Thanks to News Source by