चीन में प्रत्येक दंपती पैदा कर सकेंगे तीन बच्चे, इसलिए लेना पड़ा बड़ा फैसला


चीन में अब कोई भी दंपती तीन बच्चे पैदा कर सकेगा। सोमवार को चीनी सरकार की ओर दिए गए आदेश में पीछे सबसे बड़ा कारण ये है कि पिछले साल जनसंख्या वृद्धि की दर 1960 के दशक के बाद सबसे कम देखने को मिली थी।

बिजिंग। चीन में लगातार गिरती जनसंख्या वृद्घि दर और बूढ़ी होती आबादी को देखते हुए बड़ा फैसला लिया है। चीन में अब कोई भी दंपती तीन बच्चे पैदा कर सकेगा। सोमवार को चीनी सरकार की ओर दिए गए आदेश में पीछे सबसे बड़ा कारण ये है कि पिछले साल जनसंख्या वृद्धि की दर 1960 के दशक के बाद सबसे कम देखने को मिली थी।

इससे पहले चीन में दो बच्चे पैदा करने की परमीशन दी गई थी। चीनी सरकार की ओर से बयान के अनुसार उम्रदराज लोगों की जनसंख्या में लगातार इजाफा होने के कारण इस फैसले को लिया गया है। इसी के तहत बच्चे पैदा करने से जुड़ी नीतियों में और सुधार किया जाएगा।

यह भी पढ़ेंः- सेंट्रल विस्टा के खिलाफ याचिका खारिज, दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा, ‘राष्ट्रीय महत्व की है परियोजना’

बीते दशक में बच्चों के पैदा होने की रफ्तार थी सबसे कम
चीन की ओर से हाल में जनसंख्या के आंकड़ें जारी किए थे, जिसमें साफ था कि पिछले दशक में बच्चों की पैदा होने की रफ्तार सबसे कम थी। जिसकी सबसे अहम वजह टू च्लाइड पॉलिसी थी। आंकड़ों के अनुसार साल 2020 में चीन में सिर्फ 12 मिलियन बच्चों ने जन्म लिया था, जबकि 2016 में ये आंकड़ा 18 मिलियन था। इसका मतलब है कि 1960 के बाद चीन में सबसे कम बच्चे पैदा हुए थे।

यह भी पढ़ेंः- 50 दिन के बाद देखने को मिले सबसे कम कोरोना के नए मामले, 20 दिनों में 75000 से ज्यादा लोगों की मौत

1 चाइल्ड पॉलिसी को खत्म
चीन में जनसंख्या वृद्धि दर से जुड़ी चिंताओं को देखते हुए सरकार ने जनसंख्या नियंत्रण के लिए दशकों पहले बनाई ‘वन चाइल्ड पॉलिसी’ को 2016 में खत्म कर दिया थां व्ळभ्। चीन में कुछ लोगों का मानना है कि इस स्थिति के लिए सिर्फ सरकार की नीति ही जिम्मेदार नहीं है, लोग भी जिम्मेदार हैं।







.

Thanks to News Source by