पराली जलाने पर किसानों को जेल, उद्योगपतियों पर एफआईआर नहीं करती योगी सरकार क्यों: ओमप्रकाश राजभर


ओमप्रकाश राजभर ने यूपी सरकार से पूछा सवाल, फैक्ट्रियों से प्रतिदिन धुआं निकलता तो उद्योगपतियों पर एफआईआर नहीं क्यों

लखनऊ. पूरे यूपी में पर्यावरण का हाल बेहद नाजुक है। किसानों को पराली जलाना भी इस में एक बड़ा कारण है। पर पराली जलाने वाले किसानों के साथ पुलिस की हरकत नागवार है। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने यूपी की भाजपा सरकार को आईना दिखाते हुए कहाकि, उत्तर प्रदेश सरकार पर्यावरण प्रदूषण का हवाला देकर पराली जलाने वाले किसानों के ऊपर एफआईआर कर जेल भेज रही है। पर फैक्ट्रियों से निकलने वाले धुएं का क्या?

पराली पर किसानों के साथ यूपी सरकार की अधिक सख्ती पर चिंता जताते हुए सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने अपने ट्विट पर लिखा कि, उत्तर प्रदेश सरकार पर्यावरण प्रदूषण का हवाला देकर पराली जलाने वाले किसानों के ऊपर एफआईआर कर जेल भी भेज रही है। लेकिन फैक्ट्रियों से प्रतिदिन धुआं निकलने वाला जो हमारे पर्यावरण को प्रदूषण करता है, उन फैकट्री चलाने वाले उद्योगपतियों पर FIR नहीं करती है। क्योंकि ये उनके रिश्तेदार होते है।

ओम प्रकाश राजभर ने ने आगे निशाना साधते हुए कहाकि, लेकिन 6-6 महीने में जब किसान की बारी आती है धान, गेहूं कटाई की तभी पर्यावरण प्रदूषण याद आ जाता है क्योंकि किसानों पर अत्याचार करना है। आज किसानों पर अत्याचार कर रहे हो यही किसान, 2022 में इनको उखाड़ फेंकेगा। केंद्र व प्रदेश सरकार किसान, नौजवान, गरीब,विरोधी है।






Show More









.

Thanks to News Source by