पाकिस्तान में कोरोना संक्रमण दर घटने के साथ पटरी पर लौट रही जिंदगी, बांग्लादेश में बढ़ा लॉकडाउन


पड़ोसी देश पाकिस्तान में कोरोना संक्रमण के दरों में कमी देखने को मिल रही है, वहीं बांग्लादेश में कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण लॉकडाउन 30 मई तक बढ़ाया गया है।

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों से जहां देश में हालात खराब हैं, वहीं पड़ोसी देशों में भी कोरोना की वजह से संकट बरकरार है। हालांकि, धीरे-धीरे स्थिति में थोड़ी बहुत सुधार हो रही है।

पड़ोसी देश पाकिस्तान में कोरोना संक्रमण के दरों में कमी देखने को मिल रही है, वहीं बांग्लादेश में कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण लॉकडाउन को बढ़ाया गया है। पाकिस्तान में तीन महीनों से कोरोना के मामलों में गिरावट देखी जा रही है। लिहाजा, यहां आम लोगों की जिंदगी भी धीरे-धीरे पटरी पर लौट रही है।

यह भी पढ़ें :- 8 जून तक बढ़ा लॉकडाउन, शादियों पर 30 जून तक रोक, मास्क नहीं लगाने पर जुर्माना बढ़ाया गया

पाकिस्तान में हालात सुधरने के साथ स्कूल-कॉलेज वगैरह खुल रहे हैं, व्यवसायों में भी धीरे-धीरे रफ्तार देखी जा रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, राष्ट्रीय सकारात्मकता अनुपात 4.96 फीसदी दर्ज की गई है, जो मार्च के बाद से सबसे कम है।

पाकिस्तान में अब तक 20 हजार से अधिक की मौत

डीपीए समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 62,061 नमूनों की टेस्टिंग की गई, जिनमें से महज 3,084 लोग पॉजिटिव पाए गए। पाकिस्तान में अब तक 900,522 मामले दर्ज हुए हैं और 20,251 मौतें हुई हैं। इनमें से अधिकतर मौतें जारी तीसरी लहर के दरम्यान हुई है, क्योंकि इनमें से अधिकतर नए मरीज ब्रिटेन में पहले पाए गए वेरिएंट की चपेट में आए थे।

इस बीच संक्रमण की संख्या में आ रही गिरावट को देखते हुए यहां प्रशासन ने कोरोनावायरस से संबंधित प्रतिबंधों में ढील देने का फैसला किया है। कोविड-19 से निपटने वाली देश की शीर्ष संस्था राष्ट्रीय कमान एवं संचालन केंद्र (एनसीओसी) द्वारा उन जिलों में सोमवार से बाजारों, व्यवसायों और शैक्षणिक संस्थानों को फिर से खोलने की अनुमति दी जा रही है, जहां कोविड-19 संक्रमण अनुपात 5 फीसदी से कम है।

बांग्लादेश में बढ़ा लॉकडाउन

पड़ोसी देश बांग्लादेश ने कोरोना के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए पहले से लागू लॉकडाउन को 30 मई तक बढ़ा दिया है। हालांकि, परिवहन पर प्रतिबंधों में ढील दी है, जिसे पिछले महीने से कोविड-19 महामारी के प्रसार को रोकने के लिए निलंबित कर दिया गया था।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, बांग्लादेश के कैबिनेट डिवीजन ने रविवार को एक सर्कुलर में इस फैसले की घोषणा की। ताजा सर्कुलर के मुताबिक, सरकार ने रविवार आधी रात से स्वास्थ्य नियमों का पालन करने की शर्त पर सार्वजनिक परिवहन सेवाएं फिर से शुरू करने का फैसला किया।

यह भी पढ़ें :- लॉकडाउन का एक महीना, अब हर दिन 20 से ज्यादा दिहाड़ी परिवारों की आ रही डिमांड

वायरस के और प्रसार से निपटने के लिए बांग्लादेश ने 14 अप्रैल से 21 अप्रैल तक आठ दिनों के सख्त लॉकडाउन की घोषणा की थी, जिसे बाद में चरणों में 23 मई तक बढ़ा दिया गया था। होटल और रेस्तरां को भी प्रतिबंधों के दायरे से बाहर रखा गया है। हाल के दिनों में नए मामलों और मौतों में कमी आने के संकेतों के बाद प्रतिबंधों में ढील दी गई।

बांग्लादेश में कोविड मृत्युदर 1.57 प्रतिशत

शनिवार को, देश के स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय (डीजीएचएस) ने 1,028 नए मामले और 38 नई मौतों की सूचना दी, जिससे कुल संक्रमण की संख्या बढ़कर 787,726 हो गई और मरने वालों की संख्या 12,348 हो गई।
आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, बांग्लादेश में कोविड मृत्युदर 1.57 प्रतिशत है और वर्तमान में ठीक होने की दर 92.65 प्रतिशत है।



.

Thanks to News Source by