यूपी उपचुनाव : नाराज मतदाताओं ने कहा- नहीं डालेंगे वोट, मनाने में जुटे अधिकारी


– समस्याओं के समाधान के लिए वोट न डालकर जताया विरोध
– फिरोजाबाद, उन्नाव, अमरोहा सहित कई जगहों पर हुआ मतदान का बहिष्कार
– उत्तर प्रदेश की 7 विधानसभा सीटों के लिए रहा मतदान

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. मंगलवार को उत्तर प्रदेश की सात विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव संपन्न हुआ। कई विधानसभा क्षेत्रों में अपनी समस्याओं को लेकर लोगों ने मतदान का बहिष्कार किया। एक-दो जगह से ईवीएम में गड़बड़ी की भी सूचनाएं मिलीं, जिन्हें समय रहते दुरुस्त करा लिया गया। तीन बजे तक 41.03 फीसदी मतदाताओं मताधिकार का प्रयोग किया। सबसे अधिक मतदान नौगावां सादात विस क्षेत्र में 44 फीसदी और सबसे कम घाटमपुर में 36 फीसदी मतदान हुआ। कोरोना गाइडलाइंस बीच उत्तर प्रदेश में पहला उपचुनाव संपन्न हुआ। सुबह सात बजे जब मतदाता अपने मतों का प्रयोग करने बूथ पर पहुंचे तो उनके मुंह पर मास्क और हाथ सैनेटाइज थे। चुनाव आयोग ने सभी केंद्रों पर हैंड सेनेटाइज की व्यवस्था कर रखी थी और यह निर्देश था कि बिना मास्क कोई ईवीएम का बटन नहीं दबाएगा।

मंगलवार को 88 प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में बंद हो गई। सबसे अधिक 18 उम्मीदवार बुलंदशहर सदर से जबकि सबसे कम छह उम्मीदवार कानपुर की घाटमपुर सीट से चुनाव मैदान में थे। उपचुनाव के जरिए पहली बार भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर की ‘आजाद समाज पार्टी’ का प्रत्याशी मैदान में उतरा। वहीं, पहली बार बसपा भी पूरे-दमखम से चुनाव लड़ी। उत्तर प्रदेश की जिन सात विधानसभा सीटों पर मंगलवार को मतदान हुआ, वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में उनमें 6 सीटों पर बीजेपी और एक सीट पर समाजवादी पार्टी का कब्जा था। इस चुनाव में बसपा-कांग्रेस अगर जीते तो बढ़े मनोबल से 2022 की तैयारियों में जुट जाएंगे। वहीं, सपा और बीजेपी नेता भी अपनी-अपनी जीत का दावा कर रहे हैं। चुनाव परिणाम 10 नवम्बर को आएगा।

प्रशासन ने मांग मानी, ग्रामीणों ने दिए वोट
उन्नाव की बांगरमऊ विधानसभा क्षेत्र के जमरुद्दीनपुर और बूचा गाढ़ा में ग्रामीणों ने मतदान का बहिष्कार किया। विरोध कर रहे लोगों का कहना था कि सड़क न होने के कारण उनके बच्चों की शादियां नहीं हो रही हैं। घर के सामने मुख्य मार्ग पर गंदा पानी भरा रहता है। ग्रामीणों ने कहा कि जब तक सड़क नहीं तब तक मतदान नहीं। उपजिलाधिकारी बांगरमऊ ने बताया कि बहिष्कार की सूचना मिली थी। मौके पर मुख्य विकास अधिकारी डॉ. राजेश प्रजापति ने बताया ग्रामीणों को बताया कि सड़क का इस्टीमेट बना कर शासन को भेजा गया है। धनराशि स्वीकृत होते ही सड़क निर्माण का कार्य शुरू हो जाएगा। इसके बाद ग्रामीणों ने मतदान किया।

सड़क निर्माण को लेकर धरने पर बैठे मतदाता
सात किमी लंबी सड़क निर्माण की मांग को लेकर नौगावां सादात विधानसभा क्षेत्र में सब्दलपुर शुमाली के मतदाताओं ने उपचुनाव का बहिष्कार किया। जिलाधिकारी ने कहा कि 10 नवंबर तक सड़क बनवा देंगे, लेकिन ग्रामीण नहीं माने। इस गांव में 663 वोट हैं। फिलहाल एसपी, डीएम व एसडीएम का गांव में डेरा है।

छह घंटे बाद हुआ मतदान
फिरोजाबाद के टूंडला विधानसभा में रूधऊ मुस्तकिल की बूथ संख्या 30 पर ग्रामीणों ने उपेक्षा का आरोप लगाते हुए मतदान का बहिष्कार कर दिया। ग्रामीणों ने कहा कि विकास नहीं तो वोट नहीं। विस क्षेत्र के ही नगला बलू, कछपुरा और भैसा मंडनपुर गांव में समस्याओं को लेकर गांववाले लामबंद हो गए। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व शिक्षामित्रों भी ग्रामीणों के साथ डटे रहे। प्रशासनिक अधिकारियों के समझाने के बावजूद खबर लिखे जाने तक मतदाता नहीं मानें। हालांकि, कोटला कच्छपुरा में छह घंटे के बाद ग्रामीण माने और मताधिकार का प्रयोग किया।

लोकतंत्र जीतेगा, कोरोना हारेगा : सीएम योगी
मतदान शुरू होते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोगों से मतदान करने की अपील की। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश की 07 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हेतु मतदान प्रारंभ हो गया है। सभी सम्मानित मतदातागण कोविड से बचाव सम्बन्धी सावधानियों का पालन करते हुए लोकतंत्र के इस महापर्व में अवश्य सहभागी बनें। सभी सावधानियां अपनाएं, मतदान का कर्तव्य निभाएं। लोकतंत्र जीतेगा, कोरोना हारेगा।

.

Thanks to News Source by