यूपी एमएलसी-शिक्षक चुनाव का नामांकन शुरू, सपा प्रत्याशी मैदान में भाजपाई कर रहे वेट


– कांग्रेस-बसपा ने नहीं खोले पत्ते
-भाजपा ने प्रत्याशियों के नामों को दी हरी झंडी, सिर्फ घोषणा बाकी
-एक दिसंबर को मतदान, तीन को मतगणना

पालिटिकल न्यूज

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

लखनऊ. यूपी आजकल चुनावी अखाड़ा बन गया है। यूपी से 10 सीटों के लिए हुए राज्यसभा चुनाव में राजनीतिक पार्टियों ने जिस तरह के दांव पेंच दिखाए सब भौच्चके रह गए। उसके बाद यूपी में उपचुनाव में सात विधानसभा सीटों के लिए वोटिंग हुई, रिजल्ट का इंतजार। भाजपा के दिल की धुकधुकी बनी हुई है। वहीं सपा, कांग्रेस और बसपा उम्मीद भरी निगाहों से रिजल्ट की तरफ देख रहे हैं। अब विधान परिषद के शिक्षक व स्नातक कोटे की 11 सीटों के लिए एक और सियासी बिसात सज जाएगी। गुरुवार से नामांकन शुरू हो गया है। पर्चा दाखिल करने की आखिरी तारीख 12 नवंबर है। समाजवादी पार्टी अपने उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर दिया है जबकि भाजपा ने प्रत्याशियों के नामों को हरी झंडी दे दी है, सिर्फ घोषणा बाकी है। कांग्रेस और बसपा के उम्मीदवारों के नामों का इंतजार है। वहीं शिक्षक दल अपने प्रत्याशियों संग जीत का सेहरा बांधने के लिए तैयारियों में जुटा हुआ है। एक दिसंबर को मतदान और 3 दिसम्बर को मतगणना होगी।

विधान परिषद में सपा है जलवा :- यूपी विधान परिषद में भाजपा अल्पमत में है। कुल 100 विधान परिषद सीटों में भाजपा के पास महज 21 सदस्य हैं। सपा 55 सदस्य, बसपा 8 और कांग्रेस के पास दो सदस्य हैं, जिनमें से एक सदस्य दिनेश प्रताप सिंह भाजपा के संग है। इनके अतिरिक्त 5 सदस्य स्नातकों व 6 सदस्य शिक्षक संघ से चुनकर आते हैं।

ये है 11 सीटें :- एमएलसी शिक्षक की 11 सीटों में आगरा, मेरठ, लखनऊ, वाराणसी और इलाहाबाद-झांसी खण्ड स्नातक निर्वाचन क्षेत्र और लखनऊ, वाराणसी, बरेली-मुरादाबाद, मेरठ, आगरा व गोरखपुर-फैजाबाद खण्ड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र में चुनाव होने हैं।

कार्यकाल खत्म सदस्यों के नाम :- प्रदेश में 11 शिक्षक-स्नातक विधान परिषद सदस्यों का कार्यकाल छह मई 2020 को ही खत्म हो गया था। पर कोरोना संकट की वजह से चुनाव अब कराए जा रहे हैं। प्रदेश में स्नातक क्षेत्र में लखनऊ से विधान परिषद सदस्य कांति सिंह, वाराणसी के केदारनाथ सिंह, आगरा के डॉ. असीम यादव, मेरठ के शिक्षक नेता हेम सिंह पुंडीर व इलाहाबाद के डॉ. यज्ञ दत्त शर्मा और शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र में लखनऊ के उमेश द्विवेदी, वाराणसी के चेत नारायण सिंह, आगरा के जगवीर किशोर जैन, मेरठ से शिक्षक नेता ओम प्रकाश शर्मा, बरेली-मुरादाबाद से संजय कुमार मिश्रा तथा गोरखपुर-फैजाबाद क्षेत्र के ध्रुव कुमार त्रिपाठी का कार्यकाल खत्म हो गया है।

समाजवादी पार्टी के 11 प्रत्याशी:- समाजवादी पार्टी ने स्नातक निर्वाचन क्षेत्र आगरा से डा.असीम, मेरठ खंड से शमशाद अली, लखनऊ खंड से राम सिंह राणा, वाराणसी खंड से आशुतोष सिन्हा तथा इलाहाबाद-झांसी निर्वाचन क्षेत्र से डा.मान सिंह को प्रत्याशी बनाया है। इसी तरह शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र लखनऊ से उमाशंकर चौधरी पटेल, वाराणसी खंड से लाल बिहारी, बरेली-मुरादाबाद से संजय कुमार मिश्रा, मेरठ से धर्मेन्द्र कुमार, आगरा खंड से हेवेन्द्र सिंह चौधरी हऊआ तथा गोरखपुर-फैजाबाद निर्वाचन क्षेत्र से अवधेश कुमार को समाजवादी पार्टी का टिकट दिया गया है।

जमानत राशि 10 हजार रुपए :- सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी अभय किशोर बताते है कि, चुनाव में कोराना गाइडलाइन का सख्ती से पालन किया जा रहा है। इसलिए प्रत्याशी के साथ अधिकतम दो लोग और अधिकतम दो वाहन का ही इस्तेमाल कर सकेंगे। जिसके लिए भी अनुमति लेनी होगी। चार सेट पर्चा दाखिल किया जा सकता है। सामान्य प्रत्याशी के लिए जमानत राशि 10 हजार रुपए और अनुसूचित जाति के लिए पांच हजार रुपये होगी।

.

Thanks to News Source by