वारदात: शिरडी जाने के लिए सस्ते पर टिकट दिलाने का झांसा देकर की लूटपाट 15

वारदात: शिरडी जाने के लिए सस्ते पर टिकट दिलाने का झांसा देकर की लूटपाट

वारदात: शिरडी जाने के लिए सस्ते पर टिकट दिलाने का झांसा देकर की लूटपाट 16


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली20 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • टेक्नीकल सर्विलांस और पीड़ित से मिले क्लू के बाद जल्द सुलझाया केस

लूट के केस को पुलिस ने महज नौ घंटे में ही सुलझा लिया। लुटेरे ने पीड़ित को सस्ते दाम पर शिरडी पीलग्रिम की टिकट बुक कराने का झांसा देकर इस वारदात को अंजाम दिया था। आरोपी की पहचान बंगाली कॉलोनी संत नगर बुराडी निवासी विजय पाल (42) के तौर पर हुई। इस पर लूट, झपटमारी और चोरी के तीन आपराधिक केस दर्ज मिले हैं। पुलिस ने मामले में एक वैगनआर टैक्सी, लूटी गई बाइक, मोबाइल और कैश बरामद किया है।

पुलिस ने बताया बेगमपुर रोहिणी निवासी मनोज ने इस घटना की बाबत पुलिस में शिकायत दी थी, जिसमें उसने बताया वह 16 नवंबर की शाम बाइक से आईएसबीटी कश्मीरी गेट गया था। उसने पार्किंग में बाइक खड़ी की और वह शिरडी पिलग्रीम जाने वाली बस के बारे में इंक्वायरी करने लगा। तभी उसके पास आए एक शख्स ने सस्ते दाम पर टिकट दिलाने का झांसा दिया। जो उसे कार में बिठाकर ले गया।

कार में दोनों बातचीत कर एक दूसरे से धूल मिल गए। इसके बाद आरोपी ने बुराड़ी इलाके में ले जाकर उसके साथ शराब पी और जब वह नशे में आ गया तो उसका मोबाइल, कैश व अन्य सामान लूट लिया। वह किसी तरह से कश्मीरी गेट पहुंचा तो उसे बाइक भी गायब मिली। मामले में कश्मीरी गेट थाना पुलिस ने लूट का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरु की।

पुलिस को पीड़ित ने गाड़ी के चार नंबर बताए, जिससे मिले क्लू और टेक्नीकल सर्विलांस की मदद से पुलिस आरोपी तक पहुंच गई। आरोपी को पुलिस ने सिविल लाइंस इलाके से अरेस्ट कर लिया। बाद में इसकी निशानदेही पर उसके घर से बाइक भी बरामद कर ली गई। आरोपी ने पूछताछ में बताया शुरु में वह ओला उबर टैक्सी चलाता था।

टैक्सी उसकी पत्नी के नाम पर रजिस्‍टर्ड थी। शराब पीने की आदत और सवारियों के साथ ठीक से व्यवहार नहीं करने की वजह से कई शिकायतें हुई जिस वजह से कंपनी ने उसकी सेवाएं खत्म कर दी। वह लूट और झपटमारी की वारदात में पहले भी शामिल रह चुका है।



Source link