विश्व पर्यावरण दिवस: वनीकरण से जल सरंक्षण पर जागरूकता को ऑनलाइन जुटेंगे दिग्गज


World Environment Day भारत-तिब्बत समन्वय संघ गूगल मीट पर एक वेबीनार का आयाेजन कराने जा रही है। इस वेबीनार में वनीकरण से जल सरंक्षण विषय पर देशभर के पर्यावरण विद चर्चा करेंगे।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

लखनऊ ( Lucknow ) जल सरंक्षण के लिए वनीकरण जरूरी है। इस विषय पर भारत-तिब्बत समन्वय संघ की ओर से विश्व पर्यावरण दिवस ( World Environment Day ) के अवसर पर एक वेबिनार का आयोजन किया जा रहा है। इस वेबिनार में बताया जाएगा कि वीनकरण क्यों आवश्यक है और वनीकरण से किस तरह जल संरक्षण होगा।

यह भी पढ़ें: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बेदखली और ध्वस्तीकरण पर लगाई रोक, सभी आदेश दो अगस्त तक रहेंगे वैध

गूगल मीट पर आयाेजित होने जा रहे इस वेबिनार में देश दुनिया की कई हस्तियां हिस्सां लेंगी और पर्यावरण सरंक्षण विषय पर गंभीरता से चर्चा की जाएगी। यह जानकारी भारत तिब्बत समन्वय संघ के राष्ट्रीय संयोजक हेमेंद्र प्रताप सिंह तोमर ने दी है। उन्होंने बताया कि तिब्बत और कैलाश की आजादी के लिए प्रतिबद्ध भारत तिब्बत समन्वय संघ पर्यावरण के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए समय-समय पर ऐसे आयोजन करता रहता है। वर्तमान में कोरोना महामारी के चलते यह आयोजन गूगल मीट पर किया जाएगा। इसमें वेबीनार में टेरियर्स फाउंडेशन भी सहायक रहेगी।

यह भी पढ़ें: Vindhya Corridor: विंध्य कॉरिडोर में आई तेजी, मां विंध्यवासिनी धाम से शीघ्र कर सकेंगे मां गंगा के दर्शन

वेबीनार में मुख्य वक्ता के तौर पर उत्तराखंड सरकार के प्रमुख सलाहकार डॉक्टर आरपीएस रावत, महाराष्ट्र के प्रमुख आयकर आयुक्त डॉ पतंजलि झां, तिब्बत सरकार द्वारा स्थापित इंडो-तिब्बत कोर्डिनेशन कार्यालय ( इटको ) के समन्वयक जिग्मे सुल्टरीम, इको टास्क फोर्स के पूर्व कमांडिंग ऑफिसर व संघ के राष्ट्रीय प्रभारी ( पर्यावरण संरक्षण प्रभाग ) कर्नल हरिराज सिंह राणा व भारत-तिब्बत समन्वय संघ के राष्ट्रीय संगठन मंत्री नरेन्द्र पाल सिंह भदौरिया रहेंगे। मुख्य अतिथि व परमार्थ निकेतन के अध्यक्ष स्वामी चिदानंद सरस्वती भी इस वेबीनार में शामिल हाेंगे। वेबीनार के अंत में सभी प्रतिभागियों को प्रमाणपत्र भी ऑनलाइन वितरित किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें: गेहूं खरीद केंद्रों पर किसानों का बड़े पैमाने पर हो रहा शोषण, खूब हो रही मनमानी

यह भी पढ़ें: यूपी में फिर बदला मौसम का मिजाज, 48 घंटों में कई जिलों में हो सकती है झमाझम बारिश

.

Thanks to News Source by