सख्त निर्देश: सीएम केजरीवाल ने कहा -दिल्ली ने पराली का दे दिया है समाधान, अब कोई बहाना नहीं

सख्त निर्देश: सीएम केजरीवाल ने कहा -दिल्ली ने पराली का दे दिया है समाधान, अब कोई बहाना नहीं 1
सख्त निर्देश: सीएम केजरीवाल ने कहा -दिल्ली ने पराली का दे दिया है समाधान, अब कोई बहाना नहीं 2


नई दिल्ली20 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
सख्त निर्देश: सीएम केजरीवाल ने कहा -दिल्ली ने पराली का दे दिया है समाधान, अब कोई बहाना नहीं 3

पराली पर बायो डी कंपोजर का अध्ययन के बाद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली ने पराली का बहुत ही सस्ता और आसान समाधान दे दिया है। इस दौरान सीएम के साथ पूसा के अधिकारी व स्थानीय ग्रामीण मौजूद थे।

  • सीएम केजरीवाल ने बुधवार को पर्यावरण मंत्री के साथ हिरनकी का दौरा किया
  • बायो डी कंपोजर केमिकल के छिड़काव से खाद में बदल रही है पराली

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पराली को लेकर सभी राज्यों पर हमला बोलते हुए बहानेबाजी करने का आरोप लगाया है। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली ने पराली का समाधान दे दिया है, बायो डी कंपोजर केमिकल के छिड़काव से पराली खाद में बदल रही है। अब किसी भी राज्य के पास कोई बहाना नहीं है।

केजरीवाल ने बुधवार को पर्यावरण मंत्री गोपाल राय के साथ हिरनकी गांव का दौरा कर बायो डी कंपोजर केमिकल के छिड़काव का पराली पर पड़ने वाले प्रभावों का जायजा लेने पंहुचे थे। पराली पर बायो डी कंपोजर का अध्ययन के बाद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली ने पराली का बहुत ही सस्ता और आसान समाधान दे दिया है।

पूसा इंस्टीट्यूट द्वारा तैयार किए गए बायो डी कंपोजर केमिकल के छिड़काव से पराली खाद में बदल रही है। केजरीवाल ने कहा कि हम सुप्रीम कोर्ट को भी बताएंगे कि पराली के समाधान के लिए बायो डी कंपोजर केमिकल का छिड़काव बहुत ही प्रभावशाली है।

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि पड़ोसी राज्यों ने पराली के समाधान को लेकर कदम उठाया होता तो आज दिल्ली के लोगों को कोरोना काल में प्रदूषण का जहर नहीं पीना पड़ता। दिल्ली के प्रदूषण में करीब 40 प्रतिशत योगदान पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में जलाई जाने वाली पराली का है।

केजरीवाल ने कहा कि पड़ोसी राज्यों ने पराली के समाधान के लिए कुछ नहीं किया, इसलिए किसान मजबूर होकर पराली जलाते हैं। हम लोगों ने किसानों के खेतों में केमिकल का छिड़का बीते 13 अक्टूबर को किया था और आज 4 नवंबर है। आज यहां पर हम देख रहे हैं कि खेत में पूरा पराली गल चुकी है और पूरी तरह से खाद में बदल चुकी है।

केजरीवाल ने कहा कि यह समाधान इतना सस्ता है कि दिल्ली के अंदर केवल 20 लाख रुपए की लागत से ही पूरे दिल्ली में बायो डी कंपोजर केमिकल का छिड़काव हो गया है, यह लागत ज्यादा नहीं है। अब किसान अपने खेत में बुवाई का काम कर सकते हैं।

विज्ञापनों से ध्यान हटाकर कोरोना के बढ़ते मामलों पर ध्यान दें केजरीवाल : महापौर

दिल्ली में लगातार कोरोना के मामलों में वृद्धि हो रही है, जो बहुत चिंताजनक है। लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कोरोना के बढ़ते हुए मामलों से ध्यान हटा कर विज्ञापनों में लगे हुए है। उन्हें दिल्ली की जनता से कोई सरोकार नहीं है। यह बात बुधवार को उत्तरी दिल्ली महापौर जय प्रकाश ने कही।

उन्होंने कहा कि सर्दियों के मौसम में कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी हो सकती है, जिसे देखते हुए दिल्ली सरकार को जल्द से जल्द ठोस कदम उठाने की आवश्यकता है। महापौर जय प्रकाश ने कहा कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम के विभिन्न अस्पतालों में कार्यरत नर्सों की मांगों को पूरा करने के बाद गुरुवार से सभी नर्सें हडताल खत्म कर काम पर लौटेंगी।

उन्होंने कहा कि निगम की नर्सें अपनी मांगों को लेकर कुछ समय से हड़ताल पर थी। उनकी मांगो पर सकारात्मक रूप से विचार किया गया है। जिसके बाद नर्सें अपनी हड़ताल खत्म कर कल से कार्य पर लौटने की उम्मीद है।



Source link