सीएम योगी ने कोरोना वैक्सीनेशन महाअभियान किया शुरू, 12 साल से कम उम्र वाले बच्चों के अभिभावकों के लिए खास व्यवस्था


सीएम योगी (CM Yogi) ने केडी सिंह बाबू स्टेडियम पहुंच कर जानी कोरोना वैक्सीनेशन (Corona vaccination) की स्थिति। जून माह में एक करोड़ के टीकाकरण का लक्ष्य.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में एक जून से कोरोना मेगा वैक्सीनेशन (Corana Vaccination Campaign) का महाअभियान शुरू हो गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने लखनऊ स्थित केडी सिंह बाबू स्टेडियम (KD Singh Babu Stadium) में बने वैक्सीनेशन सेंटर पहुंचकर इसकी शुरुआत की। 75 जिलों के गांव, गली, मोहल्‍लों से लेकर शहर तक चलने वाले इस अभियान के जरिए केवल जून माह में ही एक करोड़ से ज्यादा लोगों को निःशुल्क वैक्सीन लगाने का लक्ष्य तय किया गया है। इसमें अब सभी जिलों में 18-44 वर्ष वाले लोगों को वैक्सीन लगाई जाना शुरू हो गई है। इसलिए हर जिले में दो से तीन अतिरिक्त बूथ भी बनाए गए हैं। अभी तक 23 जिलों में यह वैक्सीन अभियान चलाया जा रहा था। वहीं 12 साल से कम उम्र वाले बच्चों को अभिभावकों को वरीयता दी गई है। पहले दिन करीब करीब 1.70 लाख युवाओं को टीकाकरण लगाया गया है।

ये भी पढ़ें- कोरोना काल में अनाथों के नाथ बने सीएम योगी, भरण पोषण, पढ़ाई व आर्थिक सहायता की जिम्मेदारी उठाएगी योगी सरकार

सीएम योगी ने लिया जायजा-
महाअभियान की शुरुआत करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार सुबह केडी सिंह बाबू स्टेडियम में बने बूथ पर टीकाकरण का शुभारंभ किया। इस दौरान उन्होंने सभी से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील की। सीएम ने अभिभावक बूथ की पूरी तैयारियों का विस्तार से जायजा लिया। यहां ऑब्जर्वेशन कक्ष में वह करीब दो मिनट तक ठहरे और अधिकारियों से बातचीत कर स्थिति की पूरी जानकारी ली। 18 से 44 साल की उम्र वालों के लिए जो अतिरिक्त बूथ बने थे, उन्होंने वह भी देखा। साथ ही 45 से अधिक उम्र वाले के लिए बने बूथ में जो लोग लाइन में लगे थे, हाथ हिलाकर उनका अभिवादन किया। यहां वह बोले कि टीकाकरण सभी का होगा। कोविड प्रोटोकॉल का सभी पालन करें।

ये भी पढ़ें- यूपी के गांवों में कोरोना को मात देने में कामयाब हुई आयुष विभाग की होम्‍योपैथी विधा

12 साल से कम उम्र वाले बच्चों के अभिभावकों को वरीयता-
12 साल से कम उम्र वाले बच्चों के अभिभावकों को इस अभियान में वरीयता दी गई है। इस पर जानकारी देते हुए परिवार कल्याण महानिदेशक एवं राज्य टीकाकरण प्रभारी डॉक्टर राकेश दुबे ने बताया कि हर जिले में अभिभावक स्पेशल बूथ बनाए गए हैं। यहां केवल अभिभावकों को बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र व आधार कार्ड लाना होगा। उन्होंने आगे बताया कि कर्मचारियों व शिक्षकों के लिए भी जिला मुख्यालय से तहसील स्तर तक अलग-अलग बूथ बनाए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक अब तक प्रदेश में 1.80 करोड़ से ज्यादा लोगों को वैक्सीन की डोज लग चुकी है।



.

Thanks to News Source by