Corona in Uttarakhand: गुरुवार को 480 नए संक्रमित मिले, फिर बढ़ने लगा मौत का आंकड़ा


पढ़ें उत्तराखंड खबर ई-पेपर


आपके सुझावों का स्वागत हैं

Share news/views with us

ख़बर पढ़ें Online

उत्तराखंड में फिर से कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत और संक्रमित मामले बढ़ने लगे हैं। बीते चार दिनों के बाद एक दिन में नौ मरीजों की मौत और 480 संक्रमित मामले मिले हैं। कुल संक्रमितों का आंकड़ा 64 हजार पार हो गया है। वहीं, 602 मरीजों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया गया। 

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार गुरुवार को 10724 सैंपल निगेटिव पाए गए। पौड़ी जिले में सबसे अधिक 118 कोरोना मरीज मिले हैं। देहरादून में 84, रुद्रप्रयाग में 73, नैनीताल में 47, अल्मोड़ा में 41, हरिद्वार में 25, बागेश्वर में 19, चमोली में 19, टिहरी में 19, पिथौरागढ़ में 14, ऊधमसिंह नगर में 10, उत्तरकाशी में नौ और चंपावत जिले में दो कोरोना संक्रमित मिले हैं। 

यह भी पढ़ें: Corona in Uttarakhand: पौड़ी में 80 शिक्षक-शिक्षिकाएं मिले संक्रमित, 84 स्कूल पांच दिनों के लिए बंद

प्रदेश में आज नौ मरीजों की मौत हुई है। इसमें सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में तीन, एम्स ऋषिकेश में एक, कैलाश हॉस्पिटल में एक, महंत इंदिरेश हॉस्पिटल में दो, जेएलएन जिला अस्पताल रुद्रपुर में दो मरीजों ने दम तोड़ा है। कोरोना से अब तक कुल 1047 मौतें हो चुकी है। वहीं, 602 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। इन्हें मिला कर 58823 मरीज ठीक हो चुके हैं। 

राजधानी देहरादून के एक प्राइवेट अस्पताल में बच्चे को एक्सपायरी डेट की वैक्सीन देने और इससे बच्चे का स्वास्थ्य बिगड़ने का मामला सामने आया है। उत्तराखंड बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने शिकायत मिलने पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी को मामले की जांच कर 15 दिन के भीतर रिपोर्ट तलब की है।

सिंगल मंडी पथरी बाग निवासी एक व्यक्ति ने बाल आयोग में की शिकायत दे कहा कि उनके भतीजे को एक प्राइवेट अस्पताल में टीकाकरण करने के लिए ले जाया गया था। जहां अस्पताल कर्मचारियों ने बच्चे को एक्सपायरी डेट की रोटावायरस वैक्सीन दे दी।

अस्पताल के डॉक्टर को इस बारे में बताया गया तो उन्होंने कहा कि इस बारे में वह बाल रोग विशेषज्ञ से बात करेंगे, लेकिन टीकाकरण के अगले दिन रात को बच्चे को बुखार और उल्टी आने लगी।

उसका स्वास्थ्य बुरी तरह से बिगड़ गया, इस पर बच्चे को फिर से उसी अस्पताल में ले जाया गया तो वहां डॉक्टरों ने कहा कि एक्सपायरी वैक्सीन के कारण नहीं बल्कि उसे जो दो अन्य वैक्सीन लगी हैं, उससे बच्चे की यह स्थिति बनी है। इस पर शिकायतकर्ता ने चाइल्ड लाइन को भी मामले की शिकायत की। आयोग ने मामले में जांच बिठा दी है।

सार

  • नौ की मौत, कुल संक्रमितों का आंकड़ा 64 हजार पार, 602 मरीज हुए डिस्चार्ज

विस्तार

उत्तराखंड में फिर से कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत और संक्रमित मामले बढ़ने लगे हैं। बीते चार दिनों के बाद एक दिन में नौ मरीजों की मौत और 480 संक्रमित मामले मिले हैं। कुल संक्रमितों का आंकड़ा 64 हजार पार हो गया है। वहीं, 602 मरीजों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया गया। 

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार गुरुवार को 10724 सैंपल निगेटिव पाए गए। पौड़ी जिले में सबसे अधिक 118 कोरोना मरीज मिले हैं। देहरादून में 84, रुद्रप्रयाग में 73, नैनीताल में 47, अल्मोड़ा में 41, हरिद्वार में 25, बागेश्वर में 19, चमोली में 19, टिहरी में 19, पिथौरागढ़ में 14, ऊधमसिंह नगर में 10, उत्तरकाशी में नौ और चंपावत जिले में दो कोरोना संक्रमित मिले हैं। 

यह भी पढ़ें: Corona in Uttarakhand: पौड़ी में 80 शिक्षक-शिक्षिकाएं मिले संक्रमित, 84 स्कूल पांच दिनों के लिए बंद

प्रदेश में आज नौ मरीजों की मौत हुई है। इसमें सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में तीन, एम्स ऋषिकेश में एक, कैलाश हॉस्पिटल में एक, महंत इंदिरेश हॉस्पिटल में दो, जेएलएन जिला अस्पताल रुद्रपुर में दो मरीजों ने दम तोड़ा है। कोरोना से अब तक कुल 1047 मौतें हो चुकी है। वहीं, 602 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। इन्हें मिला कर 58823 मरीज ठीक हो चुके हैं। 


अन्य खबरे

एक्सपायरी डेट की वैक्सीन देने के मामले में होगी जांच

.

Thanks to News Source by